मुसहर समुदाए की उपलब्धि

समुदाए का पहला छात्र TISS में शाक्षात्कार के लिए चुना गया।

बसंत कुमार, सीमरी गाँव का रहने वाला एक माँझी समुदाय का लड़का जिसे TISS मुंबई से मास्टर इन सोशल वर्क के लिए अभी हाल ही में शाक्षात्कार के लिए चयन किया गया है। बसंत कुमार, दनरुआ ब्लाक में एकलौटा माँझी (मुसहर) समुदाए का युवा है। कुमार अति ग़रीब परिवार से आते है दूसरों के खेतों में मज़दूरी करके पूरा प्रवर अपनी दिंचारिया को चलता है कुमार का परिवार आर्थिक तौर पर ज़्यादा मज़बूत नहीं है।

कुमार का परिवार का आर्थिक मदद सिर्फ़ और सिर्फ़ खेतों में मज़दूरी करके जो आमदनी होती है उस पर निर्भर करती है । कुमार, ने अपनी शिक्षा को बड़ी ही मुश्किलों से प्राप्त किया है, अपने परिवार को आर्थिक मदद में सहायक के तौर पर दूसरों के खेतों में ख़ुद मज़दूरी करते है। बसंत ने अपनी शिक्षा को पूरा करने के लिए अपने ही टोले के बच्चों को घर घर जाकर उन्हें पढ़ता था। इतना ही नहीं बसंत अपने पूरे ख़ानदान में एकलौटा युवा है जिन्होंने उच्च शिक्षा तक अपना सफ़र जारी रखा।

माँझी समुदाए में कम उम्र में शादी करने के प्रचलन बहुत ज़ोरों शोरों से है, यह एक लौटा माँझी समुदाय का युवा हैं जिन्होंने ख़ुद बाल विवाह की प्रथा को चुनौती दी। इससे पहले किसी भी मुसहर समुदाए के युवा ने ना तो शिक्षा और नहीं बाल विवह के लिए किसी भी तरह से आवाज़ उठाई।

उपेन्द्र कुमार माँझी, जो की बिहार अम्बेडकर छात्र मंच(BASF) में राज्य संयोजक के तौर पर काम करते है बताते है, “बसंत में पढ़ने की लगन बहुत शुरू से ही ज़्यादा रही है, यह जो भी काम करनी की ठानते है, उसे किसी भी तरह पूरा करने के लिए पुनर्ज़ोर प्रयास करते है। यह अपने टोले के सारे बच्चों को प्रेरित किया करते है। अपने समाज को पढ़ाने के लिए एक सपना है बसंत कि आँखों में जो मैं हमेशा से देखता रहा हूँ” बसंत कुमार BASF में २०१५ से स्टेट कौर कमिटी के मेम्बर के तौर पर काम करता आ रहा है। उन्होंने BASF २०१५ से आज तक कई युवा, बच्चों की शिक्षा को लेकर नए नए प्रोग्रामों के माध्यम से शिक्षा के लिए काम किया है। बसंत कुमार, कम्यूनिटी लीडर एंड यूथ (क्ले) छात्रव्रती कार्यक्रम में भी एक प्रतिस्थित युवा नेता के तौर पर काम करते आ रहे है। अपने गाँव में ही कई जगह शिक्षा केंद्रों माध्यम से शिक्षा पर मजबूतो तौर काम करता आ रहा है।

बसंत कुमार का गांधी छात्रवृति में भी शाक्षात्कार के लिए चयन हुआ था। और अब पहली ही बार में TISS में मास्टर इन सोशल वर्क के लिए शाक्षात्कार के लिए चयन हुआ है। यह मुसहर समुदाए के लिए बहुत हर्षौल्लाश का माहौल बन के उभरा है।